बिहार के उच्च माध्यमिक स्कूलों में गेस्ट टीचर बनने का सुनहरा अवसर, निकली हैं 4 हजार से अधिक वैकेंसी

0
237
गेस्ट टीचर-guest-teacher-jobs-bihar

नई दिल्ली: नौकरी पाने की चाह रखने वाले लाखो लोगो के लिए खुशख़बरी. यदि आप ग्रेजुएट या पोस्टग्रेजुएट, एसटीईटी पास हैं या बीटेक या एमटेक से स्नातक हैं और यदि आपकी उम्र 21 साल से लेकर 65 साल तक है, तो यह आपके पास सुनहरा मौका है.

बिहार के उच्च माध्यमिक स्कूलों में गेस्ट टीचर की 4 हजार से ज्यादा वैकेंसी निकालने वाली हैं जिसके तहत अंग्रेजी, गणित, केमिस्ट्री, बॉटनी और जूलॉजी विषयों के लिए कुल 4257 खाली पदों पर गेस्ट टीचर्स की नौकरी बहाल की जाएँगी. इसके साथ ही राज्य के शिक्षा विभाग ने स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की सेवा के लिए जिलों को गाइडलाइन भी जारी कर दी है. सरकार अतिथि शिक्षकों को जिलावार और विषयवार पैनल बनाकर बहाल करेगी. यहाँ तक की शिक्षा विभाग ने गेस्ट टीचर्स के आवेदन, सेलेक्शन और मेरिट लिस्ट तय करने से लेकर उन्हें रखने की सभी प्रक्रियाओं से संबंधित आदेश भी जारी कर दिया है.

गेस्ट टीचर आवेदन के लिए यह होगी शर्त

सूत्रो के मुताबिक, बिहार सरकार का शिक्षा विभाग गेस्ट टीचर की सेवा जिस वर्ष से लेगी, उस वर्ष की पहली जनवरी को आवेदक की आयु न्यूनतम 21 साल और अधिकतम 65 साल होनी चाहिए. इतना ही नही, स्कूलों में गेस्ट टीचर के लिए आवेदन वे भी कर सकेंगे जो बी.टेक या एम.टेक पास हैं, लेकिन सरकार के मुताबिक उन अभ्यर्थियों को पहली वरीयता दी जाएगी जो एसटीईटी पास हैं.

साथ ही साथ मेरिट लिस्ट यानी मेधा सूची के लिए भी एक अलग पैनल बनेगा, जिसमें सबसे ऊपर एसटीईटी (पेपर-2) पास पोस्टग्रेजुएट ट्रेंड उम्मीदवार को प्राथमिकता दी जाएगी. इसके बाद ग्रेजुएट ट्रेंड और फिर पोस्टग्रेजुएट उम्मीदवारों की भर्ती होगी. इसके बाद बी.टेक या एम.टेक अभ्यर्थियों को वरीयता दी जाएगी. मीडिया सूत्रो के मुताबिक स्कूलों में खाली पदों का ग्रुप बनाकर पदों की गिनती की जाएगी. इसके मुताबिक ही आरक्षण रोस्टर तैयार होगा, जिसकी मंजूरी जिला शिक्षा पदाधिकारी यानी डीईओ देंगे.

25 हजार तक होगी गेस्ट टीचर की मासिक आमदनी

निदेशक ने यह भी बताया है की आरक्षण रोस्टर तैयार हो जाने के बाद डीईओ आवेदकों में से चयन सूची तैयार करेंगे. साथ ही चुने गए अभ्यर्थियों से प्राप्त विकल्पों के आधार पर वे चयनित शिक्षकों की सूची संबंधित स्कूल के हेडमास्टर को देंगे. इसके बाद सभी संबंधित स्कूल के हेडमास्टर इन गेस्ट टीचर्स की सेवा ले सकेंगे.

बिहार सरकार प्लस-टू स्कूलों में रखे जाने वाले गेस्ट टीचर को नियुक्ति पत्र (अप्वायंटमेंट लेटर) नहीं देगी. इसकी जगह गेस्ट टीचर्स को आमंत्रण पत्र (ऑफर लेटर) दिया जाएगा. साथ ही इस पत्र के मिलने के 7 दिनों के भीतर गेस्ट टीचर्स को स्कूलों में अपना योगदान देना होगा. स्कूल में योगदान करने के बाद आवेदक को यह सहमति देनी होगी कि वह सरकार के 25 जनवरी 2017 को निकाले गए संकल्प पत्र के अधीन काम करेगा. शिक्षा विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार प्लस-टू स्कूलों में रखे जाने वाले गेस्ट टीचरों का प्रतिदिन मेहनताना करीब 1 हजार और अधिकतम 25 हजार रुपए तक पारिश्रमिक दिया जाएगा.

इन विषयों में है निकली हैं संबंधित वैकेंसी

अंग्रेजी – 1041 | भौतिकी – 1024 | गणित – 791 | रसायन – 974 | जूलॉजी – 137 | बॉटनी – 290